Menu
A+ A A-

बिहार विधानसभा चुनाव में तीन प्रमुख नेताओं के दामाद उनके मुकाबिल होंगे. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के सबसे छोटे दामाद और समाजवादी पार्टी सांसद तेजप्रताप यादव बिहार में अपनी पार्टी का प्रचार करने आ रहे हैं. सपा ने प्रदेश प्रवक्ता उमेश राय ने बताया, "हमने केंद्रीय नेतृत्व से मांग की है कि तेजप्रताप को बिहार चुनाव में स्टार प्रचारक बनाया जाए".

सपा ने इस महीने की शुरुआत में राजद-जदयू-कांग्रेस के महागठबंधन से अलग होने की घोषणा की थी. तेजप्रताप जहां गठबंधन नहीं होने के कारण अपने ससुर के नेतृत्व वाले एलायंस के खिलाफ प्रचार करेंगे तो लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान और हम (हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा- सेक्यूलर) प्रमुख जीतनराम मांझी के दामाद टिकट नहीं मिलने के बाद बागी हो गए हैं.

जीतनराम मांझी के दामाद देवेंद्र मांझी बोधगया से हम (सेक्यूलर) का टिकट चाहते थे. इसमें वे नाकाम रहे.  "मैं पहले भी चुनाव लड़ चुका हूं. इस बार निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में बोधगया से चुनाव लडूंगा." देवेंद्र तब चर्चा में आए थे जब वे मांझी के मुख्यमंत्री रहते उनके निजी सहायक थे. विवाद के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था.

रामविलास पासवान के दामाद अनिल कुमार साधु भी उम्मीदवार नहीं बनाए जाने के कारण बागी हो चुके हैं. बागी होने के बाद अनिल ने सभी लोजपा उम्मीदवारों के ख़िलाफ़ प्रचार करने का ऐलान किया था. लोजपा ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया है. वे पार्टी से जुड़े संगठन दलित सेना के बिहार इकाई के अध्यक्ष थे. फिलहाल अनिल ने सांसद राजेश रंजन पप्पू यादव के नेतृत्व वाली जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) का दामन थाम लिया है.
रामविलास के एक और दामाद मृणाल भी नाराज बताए जाते हैं लेकिन फिलहल वह चुप हैं.

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded