Menu
A+ A A-

 जेल सूत्रों के मुताबिक मुन्ना बजरंगी जेल में देर रात तक नहीं सो पाया था। वह लगातार बैरक के गेट की तरफ की देखता रहा था। बताते हैं रात में ड्यूटी पर तैनात एक सुरक्षाकर्मी से मुन्ना ने बात की और खुद पर हमले की आशंका जताई लेकिन उसे गंभीरता से नहीं लिया गया। मुन्ना ने सुरक्षाकर्मी से यह भी कहा था कि अगर उसे नींद आ जाए तो सुबह बाकी बंदियों के उठने से पहले ही जगा दें। जेल सूत्रों पर यकीन करें तो पांच बजकर 37 मिनट पर मुन्ना जागा, उसके बाद पांच बजकर 50 मिनट पर मुन्ना ने चाय पी। 6 बजकर 7 मिनट पर जिस वक्त उस पर हमला हुआ, उस वक्त मुन्ना सफेद रंग के बनियान और शार्ट्स पहनकर नहाने के लिए बैरक से निकला था। इसी दौरान बंदी उससे उलझ गया और ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं।

जेल सूत्रों के मुताबिक, जेल में कुख्यात मुन्ना बजरंगी की हत्या का आसपास की बैरकों के बंदियों को पता ही नहीं है। पुलिस मान रही है कि जिस हथियार का हत्या में प्रयोग किया गया, उसमें साइलेंसर लगा था। जिसकी वजह से 10 फायर होने के बाद भी दूसरे बंदियों को पता नहीं चला। पुलिस का मानना है कि हत्या के लिए सुबह का समय भी सोच-समझकर ही चुना गया था। जेल नियम के मुताबिक, हर दिन सुबह के समय दैनिक क्रिया के लिए बंदियों को बैरक के बाहर निकाला जाता है। उस वक्त काफी गहमागहमी रहती है। लोग चाय पीते है, शौच को जाते हैं, नहाते हैं और उसके बाद काम पर या पेशी पर जिनको जाना होता है रवाना होते हैं। नहाने के समय बंदी के पास कोई आपत्तिजनक सामान होने का कम ही खतरा होता है। नहाने की वजह से ही मुन्ना भी बनियान और शार्ट्स पहने था। हमलावर को पूरा भरोसा था कि मुन्ना कोई विरोध नहीं कर पाएगा।

पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, 10 गोलियां चलाई गईं, जिसमें से छह गोलियां मुन्ना को लगीं। हमलावरों ने पूरी तरह सिर को टारगेट रखा गया। सिर के पीछे का हिस्सा पूरी तरह छलनी हो गया है। गोली लगने के बाद गिरे बजरंगी की जान जाने में सिर्फ 52 सेकंड लगे। जेल अधीक्षक ने 6 बजकर 17 मिनट पर इसकी जानकारी एसएसपी और डीएम बागपत को दी। जेल अफसरों के मुताबिक, हमलावर बंदी ने अपना हथियार गटर में फेंक दिया। पुलिस ने हथियार बरामद करने के लिए सर्च ऑपरेशन भी चलाया हुआ है। वैसे पुलिस का मानना है कि सभी गोलियां एक हथियार से नहीं चलीं, हथियार कम से कम दो थे। रिवॉल्वर या पिस्टल का इस्तेमाल हुआ है। दस गोली किसी एक रिवॉल्वर या पिस्टल में एक साथ नहीं आती हैं। 

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded