Menu
A+ A A-

गाजीपुर :  आप को बताते चलते है कि दिनांक 31-1-2017 को डालिमस सनबिम स्कूल गाजीपुर के टिचर विवेक कुमार के द्वारा कक्षा-3 में पढ़ने वाले क्षात्र के साथ दुषकर्म किया था.

पास्कोट एक्ट के तहत टिचर इस समय जेल में है. विद्वान जज रूपेश जनजन साहब ने दिनांक- 20-2--2017 को जमानत पर बहस सुनी. टिचर के वकील अपने मुवकील की जमानत के लिए बहस की, पिड़ीत पक्ष की तरफ से श्री रामनगीना सिंह वकील ने बहस किया. जज साहब ने हैवान टिचर की जमानत ना मंजुर कर दिया.  

सबसे मजेदार बात यह रहा कि इस मामले को दबाने के लिए स्कूल के प्रबन्धक के द्वारा हर प्रयास अभी-भी जारी है. प्रबन्धक के मैनेज के द्वारा मेडिकल डिले कराया गया जिससे कि मेडिकल में कुछ भी न आ सके. जागरण समाचार में यह खबर प्रकाशित हुआ कि यह सारी खबर झुठी है स्कुल को बदनाम करने के लिेए यह सब किया जा रहा है. इन सारी खबर को मेडिकल के अधार पर लिखा गया था. जागरण ने मेडिकल रिपोर्ट तैयार होने से पहले ही खबर प्रकाशित कर दिया. जज साहब ने जमानत ना मंजूर कर दिया इससे यह लगता है कि जागरण एक नाबालिग बच्चे के साथ हुए अत्याचार के खिलाफ है.

गाजीपुर शहर के नामी अंग्रेजी माध्यम के स्कूल में भी बच्चें अब नहीं रहे सुरक्षित. आज के समय में स्कूल में टिचर के द्वारा ऐसी हरकत मानवता को शर्मशार कर दे रही हैं. अभिभावको को अपने बच्चों को स्कूल भेजने से पहले यह ध्यान जरूर रखना चाहिेए कि स्कूल का मैनेजमेन्ट कैसा हैं. आज के समय में लोग शिक्षा को व्यवसाय मान कर चला रहें हैं. अभिभावको को ऐसे व्यवसायीयों से सावधान रहना चाहिए.

 

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded