Menu
A+ A A-

हमारे देश में ठंडी हो गर्मी हर मौसम में वकील काले कोट पहनते है, आप यह जानते है कि हमारे वकील क्यों काला कोट पहनते हैं, तो हम बताते है वकीलों के काला कोट पहनने की वजह.

माना जाता है कि वकीलों को काला कोर्ट पहनने की परंपरा इंग्लैंड से शुरू हुई थी. 1865 में इंग्लैंड के शाही परिवार किंग्स चार्लस व्दितीय के निधन पर कोर्ट को काला कोट पहनने का आदेश दिया गया था. इसके बाद से कोर्ट में काला कोट पहनने का चलन शुरू हो गया.

भारतीय न्यायपालिका अंग्रेजो के सिस्टम से ही चलती है इसलिेए भारत के कोर्ट में काला कोट पहनने का रिवाज चलता आ रहा है. भारत में 1961 में काला कोर्ट वकीलों के लिेए अनिवार्य कर दिया गया था. काला कोट

अनुशासन व आत्मविश्वास का प्रतीक माना जाता है. काले रंग को ताकत और अधिकार का प्रतीक माना जाता है.

काला रंग द्रिष्टताहीन का प्रतीक माना जाता है, वैसे भी कहा जाता है कि कानून अंधा होता है, द्रिष्टहीन व्यक्ति किसी के साथ पक्षपात नहीं करता है. काला कोट पहनने का मतलब है कि वकील बिना पक्षपात अपना केस लड़े.
(साभार : IBN KHABAR)

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded