Menu
A+ A A-

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जहाँ लगातार अपने विधायक व मंत्रियों को अनुशासन हीनता के चलते उनके ऊपर कड़ी कार्यवाही कर रहे है. पार्टी के मुखिया पार्टी की छवि सुधारने के लिए खुद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव लगातार सार्वजनिक मंचो से अपने कार्यकर्ताओ सहित पदाधिकारियों को अनुशासन में रहने का पाठ पढ़ा रहे है.  गाजीपुर सदर से विधायक विजय मिश्रा अपने ही पार्टी के सुप्रीमो व मुख्यमंत्री के अनुसासन के पाठ को ठेंगा दिखा रहे है.

गाजीपुर सदर से विधायक चुने जाने के बाद विजय मिश्रा को धर्मार्थ कार्य मंत्री के पद से नवाज़ा गया.  इन्हे धर्मार्थ कार्य से जुड़े मामलो में पारदर्शिता व अनुशासन बरकरार रखने की जिम्मेदारी सौपी थी लेकिन यहाँ  उल्टा हो रहा है. समाजवादी पार्टी से गाजीपुर सदर विधायक व धर्मार्थ कार्य मंत्री विजय मिश्रा पिछले दिनों चार धाम की यात्रा पे निकले है. चार धाम की यात्रा के दौरान धर्मार्थ कार्य मंत्री यमुनोत्री पहुंचे. जहा आम जनो अपेक्षा धर्मार्थ कार्य मंत्री ने दर्शन की लगी लाईनो को दरकिनार करते हुए आसानी से तत्काल दर्शन प्राप्त किये. वही दर्शनार्थियों के साथ मंदिर परिसर में ही मूर्ति के पास अपनी एक तस्वीर भी खिंचवाई जो की मंदिर नियमावली का खुला उल्लंघन था ।

उत्तर प्रदेश के धर्मार्थ कार्य मंत्री द्वारा ही मंदिर नियमावली का खुला उल्लंघन करना श्रधालुओ में चर्चा का विषय रहा श्रधालुओ कि माने तो धर्मार्थ कार्य मंत्री ने दर्शन की लगी लाईनो को दरकिनार करते हुए न केवल आसानी से दर्शन प्राप्त किये. जिसके चलते आम जनो को दर्शन करने में देरी हुई.  धर्मार्थ कार्य मंत्री ने मूर्ति के पास तस्वीर खीचने की मनाही के बाद भी मंदिर परिसर के नियमो का खुला उल्लंघन कर अपनी एक तस्वीर भी खिंचवाई जो की मंत्री पद के शपथ की गरिमा को तार तार करता है. वही आम जनो की माने तो सारे नियम कानून केवल आम व्यक्तिओ के लिए ही होते है.

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded