Menu
A+ A A-

इंडोनेशिया में गिरफ़्तार छोटा राजन पर भारत के अंडरवर्ल्ड से जुड़े होने के आरोप हैं और उनके ख़िलाफ़ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. दाऊद के बाद वो सबसे बड़े कुख्यात गैंगस्टर थे. उनके ऊपर वसूली, हत्या, और अपहरण के कई सारे मामले दर्ज हैं.

छोटा राजन पहले दाऊद के गैंग के सदस्थ थे लेकिन मार्च 1993 में जब मुंबई में बम ब्लास्ट हुआ तो उन्होंने अपना अलग गैंग बना लिया. छोटा शकील दाऊद के साथ रह गए क्योंकि इन दोनों के बीच झगड़ा चल रहा था. इन दोनों के बीच बाद में गहरी दुश्मनी हो गई थी. इस चक्कर में इन दोनों ने मुंबई में बहुत आतंक मचाया.

कहा जाता है कि पिछले कुछ सालों से छोटा राजन दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में भागते फिर रहे थे.दाऊद ने उन पर हमला भी करवाया था, लेकिन वो बच गए थे. छोटा राजन को भारत लाने में ज़्यादा कोई दिक़्क़त नहीं होगी क्योंकि इंडोनेशिया के साथ 2011 से हमारी प्रत्यर्पण संधि भी है.

राजन के भारत आने पर पुलिस को उनसे कई अहम जानकारियां मिल सकती हैं. दाऊद के भी कई आदमियों के बारे में पता चल सकेगा. भारत की पुलिस को छोटा राजन की कई सालों से तलाश थी और इंटरपोल ने उन्हें पकड़वाने के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था.

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded