Menu
A+ A A-

सम्मानीय मुख्यमंत्री महोदय,
उत्तर प्रदेश सरकार,
लखनऊ
विषय : भ्रष्टाचार को उजागर करने के सम्बन्ध में
आदरणीय महोदय,

मैं सिंहासन चौहान एक बार फिर आपका ध्यान उपरोक्त विषय के ऊपर दिलाने के लिए माफ़ी चाहता हूँ| इस विषय में मैंने कई जगह पात्र डाले हर जगह से जवाब आया मगर कोई कार्यवाही नहीं हुई| इसे मैं सरकार की कमी समझूँ, अपने लोकतंत्र की या अपनी न्यायव्यवस्था की? मैंने इस सन्दर्भ में अपना पहला पत्र आपको 03/11/2014 को लिखा था| वो पत्र मुख्यमंत्री कार्यालय से सम्मानीय जिलाधिकारी बलिया को प्रेषित कर दिया गया था| सम्मानीय जिलाधिकारी बलिया से मुख्य विकास अधिकारी बलिया को यह शिकायत अग्रसर कर दी गयी थी| सम्मानीय मुख्य विकास अधिकारी बलिया से जांच के आदेश खंड विकास अधिकारी सियर को दिए गए थे| मगर वो जांच सिर्फ कागजों में ही सिमट कर रह गयी|

खंड विकास अधिकारी सियर द्वारा इस सन्दर्भ में कोई भी सुचना नहीं उपलब्ध कराई गयी| पैसों के बल पर या राजनैतिक दबाव में जांच को दबा दिया गया और उभी तक उसकी रिपोर्ट नहीं लगाई गयी है और भ्रष्टाचारी लोग खुलेआम घूम रहे हैं| सरकार नाम की कोई चीज नहीं रह गयी है क्योंकि ग्रामीण विकास मंत्रालय से जांच के 3-3 आदेश आ चुके हैं| मगर मामले को दबाया जा रहा है| क्या आप चाहते हैं कि विकास के नाम पर, लोगों की गरीबी दूर करने के नाम पर सरकार पैसे बांटती रहे और सिर्फ कागजों में ही यह विकास और गरीबी दूर हो जाए और गिने चुने कुछ लोग इस पैसे को लूटते रहें? मनरेगा के ऊपर सरकार कितना पैसा खर्च कर रही है ताकि बेरोजगार को रोजगार मिले और गांवों का विकास हो मगर मनरेगा में क्या लूट है, इस पत्र के साथ संलग्न ऑडिओ में आप सुन सकते हैं "मनरेगा की कहानी जनता की जुबानी"| ये ऑडिओ सारा भोजपुरी भाषा में है इससे आपको पता चल जायेगा कि मनरेगा में भी कैसी लूट मची हुई है| आडियो लिंक ये है: https://www.youtube.com/watch?v=6IS243cCa0A

बहुत से लोगों कि 60 दिन से 100 दिन कि हाज़री भरी हुई है मगर उन्होंने एक दिन भी काम नहीं किया| उनको सिर्फ 500 या 1000 रुपये देकर बाकि पैसे ग्राम प्रधान द्वारा हड़प लिए जाते हैं। मैं आपको ये आखिरी पत्र लिख रहा हूँ और निवेदन करता हूँ कि कृपया मेरे इस निवेदन को गंभीरता से ले और ग्राम प्रधान चुनाव से पहले इस मामले का खुलासा करें| मैं नहीं चाहता कि ऐसे चोर लोग दुबारा पैसे के बल पर चुनाव जीत कर आएं और सरकारी खजाने और जनता के हक़ को लूटें| जब तक मेरी जानकारी में रहेगा मैं ग्राम सभा शाहपुर टिटिहा में सरकारी धन को नहीं लूटने दूंगा| अगर सरकार चुनाव से पहले अगर कोई कदम नहीं उठाती है तो मुझे मजबूर होकर अदालत कि शरण लेनी पड़ेगी|

इस पत्र के साथ संबंधित दस्तावेज संलग्न हैं| 

धन्यवाद
भवदीय,
सिंहासन चौहान
शाहपुर टिटिहा,
कीडिहिरापुर
बलिया-221716
मोब: 9839932064

0
0
0
s2sdefault

Debug

Context: com_content.article
onContentAfterDisplay: 1
Jquery: loaded
Bootstrap: loaded